9456662493 6:00 Am to 9:00 Am. 6:00 Pm to 9:00 Pm.सभी प्रकार के जोतिषी समाधान हेतु जैसे विवहा था प्रेम विवहा, व्यापारिक कठिनाई, नौकरी की समस्या, संतानहीनता गृह कलेश, वशीकरण(ऊपरी असर) व अन्य समस्यायाये. 

मुहब्बत के लिये दूसारा अमल

अमल मुझे एक दूर्वेश न बताया है । उनका कहना है कि उन्होंने बहुत से लोगो को बताया है,बहुत की कार आमाद अमल है । अगर किसी के दिल में महुब्बत पैदा करनी हो तो ये अमल बहुत ही तासीर वाला है ।  इस अमल को करने से पहले बांस की कमान और दो सौ अस्सी तीर बनायें । तीर सीधी सलाई की तरह बनायें  उनकी नोंक यों ही घिस कर बना दे , उनमे कोई लोहा पत्थर न लगाये। जब आप ये सब कर चुके तोह ये अमल हफ्ते की रात से शुरू किया जायेगा । जब जुमे का दिन निकल जायें तो हफ्ते की रात आती है । इस रात को आधी रात के करीब कमान और सात तीर लेकर किसी दरिया के किनारे चले जायें । अब एक तीर लेकर तीन ( 3 ) बार दुरुद शरीफ , चालीस ( 40 ) बार आगे दिया हुआ अमल, फिर ग्यारह (11 ) बार दुरुद शरीफ पढ़े, तीर पर दम करें, बिस्मिल्लाह  शरीफ, पढ़ कर तीर कमान पर रखें और दरिया की तरफ चला दे ।  इसी तरह से पढ़ – पढ़ कर सभी सातों तीर चला दे और फिर घर लौठ आये । रास्ते में अगर कोई मिल जायें तो अहतयात के साथ उससे बचकर निकल जायें, अगर बच कर ना निकला जा सके तो कुछ रास्ते से कुछ इस तरह से हट जायें कि उसकी नज़र आप पर न पड़े । इसी तरह हर रत बिना नागा कमान और सात तीर लेकर दरिया पर जायें और यही अमल करें और चालीस दिन तक करें । चालीस दिन में तमाम तीर पूरे हो जायेंगे अल्लाह के करम से पूरी और कामयाबी मिलेगी …

  जरुरी हिदायत – अमल पढ़ते वक्त अपने मतलूब का तसव्वुर अपने दिल में रखे और भूल कर भी किसी नाजायज काम के लिए इस अमल को न करें वरना बड़ा नुकसान उठाना पड़ेगा ….

मुहब्बत के लिये दूसारा अमल

Email Updates

Subscribe our newsletter to get information about latest updates & events.

Visit Us

Phone:

+91-9456662493
6:00 Am to 9:00 Am
6:00 Pm to 9:00 Pm

E-mail:

alshifaruhani@gmail.com

FacebookTwitter

Copyright &; 2017. CMS INFOTECH . All Rights Reserved.